पुष्कर में देखने लायक जगह – Famous Tourist Places Of Pushkar In Hindi

 
राजस्थान के अजमेर जिले में स्थित पुष्कर शहर राजस्थान के प्रमुख पर्यटन स्थलों में से एक हैं और इस शहर को ‘गुलाब उद्यान’ के रूप में भी जाना जाता हैं । पुष्कर को संस्कृति और बुद्धि का शहर भी कहा जाता हैं। परमपिता ब्रह्मा जी का एक मात्र मंदिर पुष्कर में ही बना हुआ हैं। यह स्थान दिव्य आध्यात्मिक आनंद को प्राप्त करने के लिए हिंदु धर्म के अनुयाइयों के लिए परम तीर्थों में से एक है। 

राजस्थान का पुष्कर शहर भारत के सबसे पुराने शहरों में से एक माना जाता है और यह शहर यहां आयोजित होने वाले पुष्कर ऊंट मेला के लिए प्रसिद्ध हैं, जोकि वर्ष में नवम्बर के महीने में बहुत ही धूम-धाम से मनाया जाता हैं। राजस्थान के खूबसूरत शहर पुष्कर में 50 से भी अधिक घाट बने हुए हैं। पुष्कर की यात्रा के दौरान यहां के जल में डुबकी लगाने का एक विशेष ही महत्व हैं, खासकर पूर्णिमा की शाम के दौरान इसे बहुत ही महत्वपूर्ण माना जाता हैं।

यहां गौ घाट, गणगौर, करणी, कोटा, याग, वराह आदि कई लोकप्रिय घाट है। पुष्कर के नजदीक ही राजस्थान का अन्य प्रमुख शहर अजमेर भी हैं, अजमेर से पुष्कर की दूरी लगभग 15 किलोमीटर हैं। यदि आप पुष्कर और यहां के महत्वपूर्ण पर्यटक स्थलों के बारे में जानना चाहते हैं, तो हमारे इस आर्टिकल को पूरा जरूर पढ़े।

पुष्कर के मशहूर आकर्षण स्थल – Best Places To Visit In Pushkar In Hindi

     पुष्कर झील


अरावली पर्वतमाला के बीच स्थित पुष्कर झील पुष्कर के प्रसिद्ध व लोकप्रिय पर्यटक स्थलों में से एक है। यह स्थान 52 स्नान घाटों और 500 से अधिक मंदिरों से घिरा हुआ हैं जिसे सम्पूर्ण भारत में इस झील क हिंदुओं के लिए एक पवित्र झील के रूप में जाना जाता है। पुष्कर झील में तीर्थयात्री पवित्र स्नान करने के लिए बहुत अधिक संख्या में आते हैं। हिंदू धर्मशास्त्रों के अनुसार पुष्कर झील को पांच पवित्र झीलों में से एक माना जाता हैं। जिन्हें सामूहिक रूप से पंच-सरोवर के नाम से जाना जाता हैं।

पुष्कर के प्रमुख मंदिर और धार्मिक स्थल – Famous Temples In Pushkar In Hindi

ब्रह्मा मन्दिर



जगतपिता ब्रह्मा मंदिर या पुष्कर, राजस्थान में स्थित ब्रह्मा मंदिर, भगवान ब्रह्मा को समर्पित सबसे प्रसिद्ध हिंदू मंदिर है, जिन्हें ब्रह्मांड का निर्माता माना जाता है। भारत में ब्रह्मा को समर्पित एकमात्र मंदिर होने के कारण, यह हर साल लाखों तीर्थयात्रियों को आकर्षित करता है। ब्रह्मा मंदिर की उपस्थिति के कारण पुष्कर का छोटा शहर पवित्र लगता है। यह दुनिया के प्रमुख दस धार्मिक स्थानों और भारत में हिंदुओं के लिए पांच पवित्र तीर्थस्थलों में से एक है। लगभग 2000 साल पुराने ब्रह्मा मंदिर का निर्माण मूल रूप से 14वीं शताब्दी का माना जाता है। मंदिर में संगमरमर और विशाल पत्थर की शिलाओं से निर्मित, इसमें भगवान ब्रह्मा की दो पत्नियों, गायत्री और सावित्री के चित्र हैं।

  वराह मंदिर

वराह मंदिर पुष्कर का सबसे बड़ा और सबसे प्राचीन मंदिर हैं जोकि भगवान वराह बोअर को समर्पित है। यह भगवान विष्णु का तीसरा अवतार माना जाता है। वराह मंदिर में जंगली सूअर के रूप में अवतरित हुए भगवान विष्णु की एक प्रतिमा स्थापित है। आप जब भी पुष्कर जाएं तो भगवान विष्णु के इस अद्भुत अवतार का दर्शन करने के लिए वराह पुष्कर मंदिर जरूर जाएं।

सिंह सभा गुरुद्वारा


पुष्कर में स्थित सिंह सभा गुरुद्वारा का निर्माण गुरु नानक देव की पुष्कर यात्रा के उपलक्ष्य में किया गया था। यह स्थान गुरु नानक धर्मशाला के नाम से भी प्रसिद्ध है। सिंह सभा गुरुद्वारा पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करता हैं और यहा आने वाले पर्यटक की लम्बी कतार वर्ष भर देखी जाती हैं।

सावित्री मंदिर 


पुष्कर एक पहाड़ी के ऊपर स्थित सावित्री मंदिर एक भव्य मंदिर है। इस मंदिर में परमपिता ब्रह्मा जी की पहली पत्नी सावित्री और दूसरी पत्नी गायत्री की मूर्ती स्थापित हैं। हालाकि सावित्री देवी को हमेशा पहले पूजा जाता हैं। आपको बता दे मंदिर में लगभग डेढ़ घंटे की कठिन व रोमांच से भरपूर चढ़ाई है। उसके बाद भी सावित्री मंदिर तीर्थ यात्रियों और पर्यटकों के लिए लोकप्रिय स्थल बना हुआ है।

पुष्कर घूमने जाने के लिए सबसे अच्छा समय – Best Time To Visit Pushkar In Hindi


यदि आप राजस्थान के खूबसूरत पर्यटक स्थल पुष्कर घूमने जा रहे है तो आपको यहां के मौसम और जलवायु की जानकारी होना आवश्यक हैं। तो हम आपको बता दे पुष्कर का मौसम आमतौर पर रातें ठंडी और दिन काफी गर्म होते हैं। और यहां रुक-रुक कर बारिश होते रहती हैं क्योंकि यह एक रेगिस्तानी क्षेत्र है। आप यहां किसी भी मौसम में घूमने जा सकते है और यहां के पर्यटक स्थलों की सैर कर सकते हैं लेकिन नवम्बर से फरवरी माह तक का समय पुष्कर शहर घूमने के लिए सबसे अच्छा माना जाता हैं।

ऐसी ओर  अधिक जानकारियों  के लिए  नोटिफिकेसन बैल पर क्लिक करे  ओर  नोटिफिकेसन  आलाउ करे !अगर पोस्ट अच्छी लगे तो   लाइक (like) करे  कोमेंट ( comment ) करे तथा सेयर (share)  करे !